शनि को मजबूत करने के लिए क्या करना चाहिए? (10 अच्छे उपाय)

अगर आपका शनि कमजोर है और आप इस बात से बहुत परेशान है कि, आप शनि को मजबूत करने के लिए क्या करना चाहिए? ये जानना चाहते हैं। तो ये आर्टिकल आपके लिए ही है। क्योंकि मै अपने आप के इस आर्टिकल मे आप सभी को बताऊंगी कि शनि को मजबूत करने के लिए क्या करना चाहिए। साथ ही शनि अगर कमजोर है तो उसके क्या लक्षण होते हैं? ये भी मैं आपको अपने इस आर्टिकल के तहत बताऊंगी और साथ ही शनिदेव से संबंधित और भी जानकारियां आपको दूंगी। तो उम्मीद करती हूं। मेरा आज का ये आर्टिकल आप सभी लोगों के लिए उपयोगी साबित होगा।

शनि को मजबूत करने के लिए क्या करना चाहिए?

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनि को नवग्रह में सबसे विशेष स्थान दिया गया है। क्योंकि शनि न्याय प्रिय है। शनि की दृष्टि में सभी एक समान है। इसलिए वह अच्छे कर्म करने वाले को सुख संपत्ति मिलता है। वहीं बुरे कर्म करने वालों के जीवन में कष्ट, पीड़ा और संकट मिलता है। ऐसी मान्यता है कि, जिस व्यक्ति का शनि मजबूत होता है। वह व्यक्ति रंक से भी राजा बन जाता है। और जिस व्यक्ति का शनि कमजोर होता है। उसे राजा से रंक बनने में जरा सा भी समय नहीं लगता। अब स्वर्ग और नर्क दोनों ही धरती पर ही है।

इसलिए जो व्यक्ति जैसा कर्म करेगा उसे अपने इसी जीवन में उसका फल प्राप्त होगा। जो व्यक्ति अच्छा कर्म करेगा उसे अपने जीवन में अच्छी चीज देखने को मिलेगी। परंतु जो व्यक्ति बुरा कर्म करेगा। उसे अपने कर्मों का फल इसी जीवन में प्राप्त हो जाएगा। क्योंकि शनि देव सभी के कर्मों का हिसाब रखते हैं। और उसे उसके कर्मों के अनुसार फल इसी जीवन में प्राप्त कराते हैं। इसलिए अगर आप चाहते हैं। कि आपका शनि मजबूत हो तो सर्वप्रथम आपको गलत चीजों से, गलत आदतों से दूर रहना चाहिए।

अर्थात कभी भी अपने अंदर गलत भावनाओं को उत्पन्न नहीं होने देना चाहिए। मन में दूसरों के प्रति सदैव प्रेम और समर्थन की भावना रखनी चाहिए। अच्छाई से बड़ा दुनिया में कोई धन दौलत नहीं है। इसलिए अगर आप मन से सच्चे हो। आपका मन पवित्र हो। आपके मन में दूसरों के प्रति समर्थन और सहायता करने की भावना हो। तो आपको कभी भी शनि की कुदृष्टि नहीं पड़ेगी। सदैव शनि आपका अच्छा रहेगा। जिससे आपके जीवन से सभी संकट दूर रहेंगे। तो आईए जानते हैं। शनि को मजबूत करने के लिए क्या करना चाहिए।

शनि को मजबूत करने के 10 उपाय

शनि को मजबूत करने के लिए क्या करना चाहिए
  1. अगर किसी जाता का शनि कमजोर है। तो उसे नियमित रूप से लगातार कम से कम 19 और अधिक से अधिक 51 शनिवार का व्रत रखना चाहिए। इससे आपका शनि मजबूत होगा।
  2. अगर आपका सनी कमजोर है। तो आपको शनिवार के दिन काला कपड़ा पहनकर ॐ प्रां प्रीं प्रौं स: शनिचराय नमः का कम से कम 5 माला जाप करें। अगर आप चाहे तो इस मंत्र का जाप आप 11 या 19 माला भी कर सकते है। ये आपपे निर्भर करता है।
  3. शनिवार के दिन एक तांबे के लोटे में गंगाजल, कच्चा दूध, चीनी काला तिल, डालकर पश्चिम की तरफ अपना मुख कर कर इस मंत्र जड़ में ब्रह्मा मध्य में विष्णु सर शिव के स्वरूप हैं। पत्ते पत्ते देवनारायण वृक्ष राजा नमः स्तूते बोलते हुवे पीपल के पेड़ में जल अर्पित करें। और एक सरसों के तेल का दीपक जलाएं। ऐसा करने से आपका शनि मजबूत होगा।
  4. जिसका सनी कमजोर होता है। उसे शनिवार के दिन उड़द की बनी पकौड़ी, बड़ा, आदि चीजों का सेवन करना चाहिए। साथ ही सरसों से बने खाने का भी सेवन करने से आपका शनि मजबूत होगा और शनि की कुदृष्टि आप पर नहीं पड़ेगी।
  5. शनिवार के दिन आपको फल में केला खाना चाहिए। ये भी आपके शनि को मजबूत करने में आपकी सहायता करता है।
  6. अपने शनि को मजबूत करने के लिए आपको कंबल, जूता, चप्पल, लोहा, काला कपड़ा, नीला कपड़ा, काला तिल, कंबल,सरसों तेल आदि चीजों का दान करना चाहिए। इसके साथ ही आप शनिवार के दिन गाय और भैंस का भी दान कर सकते हैं। ये सभी आपके शनि को मजबूत करने में आपकी बहुत सहायता करता है।
  7. अगर आप अपना शनि मजबूत करना चाहते हैं। तो आपको नीलम धारण करना चाहिए। हालांकि अगर आप इसके लिए किसी ज्ञानी ज्योतिष की सलाह ले तो ये और भी अच्छा होगा।
  8. अगर आप चाहते हैं कि, आपका शनि मजबूत हो। तो आपको शनि के जो उपरत्न है। उसे धारण करना चाहिए। यह आपकी शनि को मजबूत करने में बहुत सहायता करते हैं। परंतु इसे धारण करने से पहले आप किसी सर्वश्रेष्ठ ज्योतिषी की सलाह अवश्य ही ले ले। शनि के उपरत्न – जमुनिया नीली, काला अकीक, लाजवर्त।
  9. अगर आपका शनि कमजोर है। तो आपको किसी भी पराई स्त्री और पराए पुरुष से परहेज रखना है। आपको इनसे किसी भी प्रकार का कोई भी संबंध नहीं बनाना है। साथ ही आपको कभी भी अहंकार नहीं करना है। सदा गरीब और निसहाय लोगों की सहायता करनी है। और साफ सुथरे तरीके से रहना है। इससे आपका शनि मजबूत होगा।
  10. अपने शनि को मजबूत करने के लिए आपको शनि देव के साथ-साथ महादेव और हनुमान जी की भी पूजा करनी चाहिए। आपको महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना चाहिए। साथ ही हर शनिवार को सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए।

अगर आप अपने जीवन में इन सभी उपायों को करते हैं। तो आपका शनि मजबूत हो जाएगा। और आप शनि की कुदृष्टि से बच पाएंगे। जिससे आपके जीवन में जितनी भी परेशानियां है। जितनी भी संकटों का आपको सामना करना पड़ रहा है। वो सभी दूर हो जाएंगे। और आपके जीवन में सुख और शांति आ जाएगी। तथा आपको आपके कार्यों में सफलता भी मिलेगी।

शनि कमजोर होने के लक्षण क्या है?

बहुत से लोग यह जानना चाहते हैं कि, शनि को मजबूत करने के लिए क्या करना चाहिए? क्योंकि उनके कुंडली में शनि की स्थिति शुभ नहीं होती। जिससे उनका शनि कमजोर होता है। तो आईए जानते हैं आप कैसे जानेंगे कि आपका शनि कमजोर है।

  1. अगर आप अंदर से प्रसन्न नहीं है। आपके अंदर से उदासी महसूस हो रही है। तो ये जान जाए कि आपका शनि कमजोर है।
  2. यदि आपको लगातार आर्थिक रूप से तंगी महसूस हो रही हो। साथी अगर आपके हाथों में पैसा नहीं टिक पा रहा हो। तो आप यह समझ ले कि आपकी कुंडली में शनि की स्थिति कमजोर है।
  3. मेहनत करने के बाद भी आपको सफलता नहीं मिल पा रही है। आपका बनता हुआ काम बार-बार बिगड़ जा रहा है। तो आप यह समझ जाए कि आपकी कुंडली में शनि की स्थिति कमजोर हो गई है।
  4. जब आप अचानक से शारीरिक रूप से अस्वस्थ होने लगे आपको अचानक से अलग-अलग रोग हो रहे हैं। तो इसका एक सबसे बड़ा का कारण आपकी कुंडली में शनि का कमजोर होना भी हो सकता है।
  5. अगर आपका मन अचानक से गलत चीजों के तरफ जाने को विचलित होने लगे। या आपके अंदर अचानक से नशा करना या जुआ खेलने इत्यादि जैसे गलत आदतें पनपने लगे। तो आप समझ ले इन सब का कारण कुंडली में शनि का कमजोर होना है।

शनि के कमजोर होने से क्या दुष्प्रभाव डालता है?

शनि को मजबूत करने के लिए क्या करना चाहिए

जब किसी व्यक्ति का शनि कमजोर होता है। उसका हर एक कार्य विपरीत ही होता है। मानो उसकी बुद्धि पर ताला लग जाता है। उसे सही और गलत में फर्क दिखाना बंद हो जाता है। वह व्यक्ति गलत चीजों के तरफ गलत आदतों के तरफ ज्यादा आकर्षित होने लगता है। जिससे उसकी बुद्धि मंद हो जाती है। जो व्यक्ति शनि दोष से पीड़ित होता है। उसके जीवन में केवल समस्याएं ही समस्याएं उत्पन्न होती है। उसका भाग्य उसके अनुकूल न होकर उसके विपरीत हो जाता है। उसे व्यक्ति के जीवन में दुर्घटना और करवा जैसे अशुभ योग बनने लगते हैं।

Also Read:

जानें शनि देव को खुश करने के लिए क्या करना चाहिए? (11 उपाय)

शनि खराब होने पर क्या करें? जानें ठीक करने के (8 आसान उपाय)

कुंभ राशि वाले शनि देव को कैसे प्रसन्न करें? (6 आसान उपाय)

वह अगर कोई कार्य करने जाता है। तो उसे उस कार्य में सफलता नहीं मिल पाती है। उसके कड़ी मेहनत करने के बाद भी कार्य असफल हो जाता है। उसका बनता हुआ काम बिगड़ जाता है। उसकी धन–संपत्ति सभी धीरे-धीरे नष्ट होने लगते है। उसका परिवार बिखर जाता है। उसके परिवार में आए दिन कलह होने लगते हैं। उस व्यक्ति को अनेक अनेक प्रकार के रोग हो जाते हैं। उसे मानसिक, शारीरिक, आर्थिक हर रूप से केवल और केवल संकटों का ही सामना करना पड़ता है।

शनि के दुष्प्रभाव से कैसे बचें?

अगर आप शनि के दुष्प्रभाव से बचना चाहते हैं। तो आपको कुछ उपाय करने होंगे और इन उपायों के द्वारा आप शनि के दुष्प्रभाव से अवश्य ही बच पाएंगे।

  1. प्रत्येक शनिवार को आपको विशेष रूप से ब्रह्म मुहूर्त में उठकर शनिदेव के मंदिर जाकर शनिदेव की पूजा करनी चाहिए और उन्हें तेल और गुड़ चढ़ाना चाहिए। और शनि देव को सरसों का तेल चढ़ाना चाहिए।
  2. प्रत्येक शनिवार को शाम के समय आपको पीपल के पेड़ के पास सरसों के तेल का दीपक जलाना चाहिए और साथ ही प्रत्येक शनिवार को आपको जल में तिल और गुड़ मिलाकर पीपल के पेड़ में अर्पित करना चाहिए।
  3. शनि के दुष्प्रभाव से बचने के लिए आपको शनिवार के दिन काला तिल, सरसों का तेल, काला कपड़ा, नीला कपड़ा, कंबल, जूता, चप्पल, उड़द की दाल जैसी चीजों का दान करना चाहिए। इससे शनि के दुष्प्रभाव से बचा जा सकता है।
  4. शनिवार के दिन काम से कम पांच गरीबों को अवश्य ही भोजन करना चाहिए। इससे आपका शनि ग्रह का दोष कम होता है।
  5. शनिवार के दिन आपको शाम के समय एक कटोरा में सरसों का तेल डालकर उसमें अपनी परछाई को देखकर उसे तेल को दान में दे देना चाहिए। इससे आपका गृह काटता है।
  6. शनि के दुष्प्रभाव से बचने के लिए आपको शनि देव के साथ-साथ हनुमान जी और देवों के देव महादेव की पूजा करनी चाहिए।
  7. शनि के दुष्प्रभाव से बचने के लिए आपको प्रत्येक दिन शनि के बीज मंत्रॐ प्रां प्रीं प्रौं स: शनिचराय नमः या शनि मंत्र ओम स: शनिचराय नमः कम से कम 5 माला जाप अवश्य ही करना चाहिए।
  8. शनि के दुष्प्रभाव से बचने के लिए आपको प्रत्येक दिन मां दिन महामृत्युंजय मंत्र ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् उर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय मामृतात् ।। का काम से कम 108 बार जाप अवश्य करना चाहिए। इससे आपका सभी ग्रह–कलेश करता है और आपके जीवन में सुख और शांति आती हैं।
  9. अगर आप चाहते हैं कि आप शनि के दुष्प्रभाव से बचे रहें तो आपको प्रत्येक शनिवार को सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए ऐसा करने से शनि देव प्रसन्न होते हैं। और उनकी शुभ दृष्टि आप पर पड़ती है।
  10. अगर आप शनि के दुष्प्रभाव और अशुभ दृष्टि से बचना चाहते हैं। तो आपको मांस मदिरा का सेवन करना बंद करना होगा। साथ ही शनिवार के दिन आपको बाल और नाखून नहीं काटने है। अगर आप यह सभी कार्य करते हैं। तो शनि देव आपसे अप्रसन्न रहते हैं। इसलिए शनि देव के दुष्प्रभाव से बचने के लिए आपको इन सभी चीजों का त्याग करना होगा।

शनि मजबूत करने के लिए क्या धारण करें?

शनि को मजबूत करने के लिए क्या करना चाहिए

अगर आपका शनि कमजोर है। और आप अपने शनि को मजबूत करना चाहते हैं। तो इसके लिए ज्योतिष शास्त्र में बहुत सारे उपाय हैं। जिसमें से कुछ उपाय यह है कि, आपको कुछ चीजों को अपने शरीर में धारण करना होगा। जो व्यक्ति को शनि की कुदृष्टि से बचाता है।और शनि की साढ़े साती और शनि के ढैय्या का अशुभ प्रभाव व्यक्ति पर नहीं पड़ता है।

  1. यदि आपका शनि कमजोर है और आप अपने शनि को मजबूत करना चाहते हैं। तो आप शनि के शुभ रत्न नीलम को शनिवार के दिन अभिमंत्रित करके अंगूठी के रूप में या लॉकेट के रूप में धारण कर सकते हैं। इससे आपका शनि मजबूत होगा और यह आपको शनि के साढ़े साती और ढैय्या के अशुभ प्रभाव से भी बचाएगा।
  2. अपने शनि को मजबूत करने के लिए आप शनि के शुभ रत्न के अलावे शनि के उपरत्न जैसे जमुनिया नीली, लाजवर्त, कला अकीक में से कोई भी एक अंगूठी के रूप में या लॉकेट के रूप में शनिवार के दिन अभिमंत्रित करके धारण करने से आपका शनि मजबूत होगा।और आपके जीवन से संकट दूर रहेगा।
  3. अपने शनि को मजबूत करने के लिए आप काले रंग के घोड़े की नाल से बनी अंगूठी धारण कर सकते हैं। इस अंगूठी को आपको शनिवार के दिन अभिमंत्रित करके अपने दाएं हाथ की मध्यमा अंगुली में पहनना है। ऐसा करने से शनि की को दृष्टि आप पर नहीं पड़ेगी तथा आप शनि के साडेसाती के सुप्रभात से बचे रहेंगे और आपके जीवन में परेशानियां उत्पन्न नहीं होगी।
  4. अगर आप अपने शनि को मजबूत करना चाहते हैं। तो आप प्राण प्रतिष्ठित किए गए शनि यंत्र को भी पहन सकते हैं। इस यंत्र को आपको शनिवार के दिन किसी शुभ मुहूर्त में पहनना है।

निष्कर्ष

हमने अपने आज के इस आर्टिकल जिसका मुख्य विषय था। शनि को मजबूत करने के लिए क्या करना चाहिए? जिसमें हमने आपको शनि के मजबूत करने के उपाय बताए हैं। और साथ ही शनि के कमजोर होने के लक्षण और शनि के दुष्प्रभाव के लक्षण से लेकर इसके उपाय भी आपको बताए हैं। संक्षिप्त रूप में बात करें तो अगर आप शनि को मजबूत करना चाहते हैं। और शनि के दुष्प्रभाव से बचना चाहते हैं। तो आपको सभी गलत आदतों का त्याग करना होगा। अपने जीवन में अच्छी आदतों को अपनाना होगा। और ज्यादा से ज्यादा दान–पुण्य करने होंगे।

गरीब और असहाय लोगों की सहायता करनी होगी। और साथ ही शनि देव के साथ-साथ हनुमान जी और भगवान शिव की पूजा अर्चना करनी चाहिए। और अगर आप यह चाहते हैं। कि कभी भी आपके जीवन में शनि का दुष्प्रभाव ना पड़े। तो आपको ज्यादा कुछ नहीं बस शनि के बीज मंत्र का जाप करना है प्रतिदिन। और हो सके तो प्रतिदिन महामृत्युंजय मंत्र का भी जाप करें। और प्रत्येक शनिवार को सुंदरकांड का पाठ करें। उम्मीद है कि मेरा ये आर्टिकल आप सभी लोगों के लिए उपयोगी साबित हुआ होगा। धन्यवाद।

डिस्क्लेमर – इस लेख में वर्णित जानकारी और सामग्री के सटीकता के विश्वास की गारंटी हमारी या हमारी टीम की नही हैं। हमने आपको ये सारी जानकारियां विभिन्न मध्यम जैसे ज्योतिष, पंडित, पंचांग, विभिन्न धर्म ग्रंथ से इकट्ठी कर के आप तक पहुंचाई है। हमारे उद्देश्य बस सूचनाओं/जानकारियों को आपतक पहुंचाना है। इसके अलावें इसके उपयोग की जिम्मेदारी हमारी नही होगी। इसके उपयोग की जिम्मेदारी केवल उपयोग करने वाले की होगी।

FAQs:

Q. शनि के लिए किस भगवान की पूजा करनी चाहिए?

सनी के लिए आपको शनि देव के साथ-साथ हनुमान जी और महादेव की पूजा करनी चाहिए। और प्रत्येक शनिवार को सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए।

Q. शनि किस घर में मजबूत है?

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनि का मजबूत घर कुंडली का दसवां भाव है।

Q. शनि की शत्रु राशि कौन सी है?

मेष, वृश्चिक, कर्क और सिंह राशि को शनि की शत्रु राशि कही गईं हैं।

Q. शनि देव के गुरु कौन है?

देवो के देव महादेव को शनि देव का गुरु कहां गया हैं।

Q. शनिदेव का भाई कौन है?

यमराज शनि देव के भाई है।

स आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको बताया शनि को मजबूत करने के लिए क्या करना चाहिए? और इसे मजबूत करने के उपाय से संबंधित सभी जानकारी देने का प्रयास किया है। आशा करती हूं, कि मेरा यह आर्टिकल आप सभी के लिए उपयोगी साबित हुआ होगा। ऐसे ही और अन्य सभी जानकारी के लिए हमारे वेबसाइट Suchna Kendra से जुड़े रहे। और हमारे Telegram Channel अवश्य Join करें।

Share This Post:

Leave a Comment