शनि खराब होने पर क्या करें? जानें ठीक करने के (8 आसान उपाय)

अगर आपका शनि खराब है। आपके कुंडली में शनि कि स्थिति अच्छी नही है। इसलिए आप ये जानना चाहते है कि, शनि खराब होने पर क्या करें?। जिससे हमारी कुंडली में शनि की स्थिति ठीक हो जाए। साथ ही अगर आप शनि के खराब होने के लक्षण और शनि ग्रह से संबंधित और भी जानकारियां प्राप्त करना चाहते है। तो ये आर्टिकिल आपके लिए ही है। क्योंकि मैं अपने आज के इस आर्टिकल में आप सभी को शनि खराब होने पर क्या करें? के साथ साथ इसके खराब होने के लक्षण भी बताऊंगी। उम्मीद करती हु ये आर्टिकल आप।सभी लोगो के लिए उपयोगी साबित हुआ होगा।

शनि खराब होने पर क्या करें?| ठीक करने के (8 आसान उपाय)

नवग्रहों में से एक ग्रह शनि देव है। जिन्हे न्याय का देवता कहा जाता है। ज्योतिष शास्त्र में शनि देव को न्यायधीस कहा गया है। ये किसी भी व्यक्ति को उसके कर्मों के अनुसार फल देते है। जब कुंडली में शनि अशुभ स्थान पर बैठ जाए। तो उस व्यक्ति को शनि दोष लग जाता है। जिससे इस व्यक्ति का शनि खराब हो जाता है। और शनि के खराब हो जाने से व्यक्ति को शारीरिक, मानसिक, आर्थिक हर रूप से परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसलिए वो ये जानना चाहते है कि, शनि खराब होने पर क्या करें? तो आईए जानते है शनि खराब होने पर क्या करना चाहिए।

  1. ज्योतिष शास्त्र की माने तो जिस भी व्यक्ति का शनि खराब है। उसे व्यक्ति को शनि अमावस्या पर पीपल के पेड़ की पूजा करनी चाहिए। शनि अमावस्या के दिन कच्चे दूध में कुछ मीठा मिलाकर पीपल के पेड़ के जड़ में चढ़ाने से और तिल या सरसों के तेल का दीपक जलाने से। शनि दोष मिटता है। और व्यक्ति के कष्ट दूर होते हैं। जब शनि की साडेसाती या सनी कन्हैया का प्रभाव अशोक प्रभाव किसी व्यक्ति पर पड़ता है। तो उसे व्यक्ति को पीपल के पेड़ की पूजा करनी चाहिए और साथ तेरी कर्म लगाना चाहिए इससे साडेसाती के अशुभ प्रभाव से व्यक्ति को मुक्ति मिलती है। जीवन में सुख और शांति पाने के लिए। शनि अमावस्या के दिन पीपल का वृक्ष लगाना बहुत ही शुभ माना जाता है।
  2. अपनी कुंडली में शनि की स्थिति को अच्छा करने के लिए हर शनिवार को एक लोहे के कटोरे में साबुत उड़द की दाल और काले चने और सरसों का तेल डालकर इसे काले कपड़े से ढक कर अपने माथे से लगाकर किसी व्यक्ति को दान देना आरंभ करें। अगर आप हर शनिवार को यह उपाय करते हैं। तो आपकी कुंडली में शनि की स्थिति अच्छी हो जाएगी। और आपको अनेक प्रकार के कष्ट, दुख, तकलीफ से मुक्ति मिलेगी।
  3. कुंडली में शनि की स्थिति अच्छी करने के लिए हर शनिवार को शनि देव के बीज मंत्र ॐ प्रां प्रीं प्रौं स: शनिचराय नमः का जाप करना चाहिए। इससे व्यक्ति को हर प्रकार के भय से मुक्ति मिलती है।
  4. महादेव शनि देव के आराध्य हैं। इसलिए जिस भी व्यक्ति को शनि दोष है। उसे शनि दोष से मुक्ति के लिए। हर शनिवार को शनि देव की पूजा के साथ-साथ महादेव की भी पूजा करनी चाहिए। साथ ही जल में काला तिल मिलाकर ॐ नमः शिवाय के उच्चारण के साथ शिवलिंग पर जलाभिषेक करना चाहिए। ऐसा करने से व्यक्ति को शनि दोष से मुक्ति मिलती है। और उनके जीवन की शारीरिक आर्थिक और मानसिक हर प्रकार के कष्टों का निवारण हो जाता है।
  5. शनि दोष से मुक्ति पाने के लिए जातक को प्रत्येक शनिवार पर व्रत रखना चाहिए। और गरीब लोगों की सहायता करनी चाहिए। ऐसा करने से व्यक्ति के जीवन में आ रहे सारी परेशानियां दूर हो जाती है।
  6. जो व्यक्ति हनुमान जी की पूजा करता है। उससे शनि देव सदैव प्रसन्न रहते हैं। इसलिए शनि दोष से मुक्ति पाने के लिए जातक को शनिदेव की पूजा के साथ-साथ हनुमान जी की भी पूजा करनी चाहिए। साथ ही प्रत्येक शनिवार को सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए। इससे शनि दोष से मुक्ति मिलती है। साथ ही जीवन के सभी संकट भी दूर हो जाते हैं।
  7. शनि दोष मुक्त करने का एक बहुत सरल उपाय है। वो उपाय ये है। कि आपको एक काजल की डिब्बी ले लेनी है। और उस डिब्बी को भोलेनाथ का नाम लेते हुए कम से कम 21 बार शनि दोष से पीड़ित व्यक्ति सके ऊपर घुमा लेना है। और फिर किसी एकांत जगह में जाकर उस डिब्बी को किसी पेड़ के नीचे छोटा सा घर बनाकर उसके अंदर डाल कैसे मिट्टी से ढक दीजिए। इस उपाय से हमें शनि की कुदृष्टि से मुक्ति मिलती है।
  8. शनि के दुष्प्रभाव को दूर करने के लिए। हमे मजदूरों की सेवा करनी चाहिए। तथा उन्हें खाने–पीने का समान दान करना चाहिए। साथ ही हमें काले कुत्ते और काले कौवे की सेवा करनी चाहिए।

Also Read:

जानें शनि देव को खुश करने के लिए क्या करना चाहिए? (11 उपाय)

जानें, आपके कुंडली में शनि अच्छा है या बुरा कैसे पता चलेगा?

शनि को मजबूत करने के लिए क्या करना चाहिए? (10 अच्छे उपाय)

जानें, आपके कुंडली में शनि के बलवान होने से क्या होता है?

शनि खराब होने के क्या लक्षण है?

शनि खराब होने पर क्या करें
  1. धन संपत्ति में कमी होना : जब किसी व्यक्ति को शनि दोष लगता है। तो उस व्यक्ति का सारा धन और संपत्ति धीरे-धीरे व्यर्थ के चीजो में खर्च होने लगती है।
  2. वाद–विवाद होना : सनी दोस्त लव यू पर बिन बजा बाद विवाद के स्थिति बन जाती है। और व्यक्ति पर झूठे लालचंद लगाई जाते हैं। इसके अलावा कोट–कचहरी का चक्कर लगना आरंभ हो जाता है।
  3. शराब, जुआ की गन्दी आदत लगना : सनी दोष लगने का एक मुक्के कारण शराब जुआ जैसी गंदी आदततो का होना भी है।
  4. बनता हुआ कम बिगड़ना : बनता हुआ काम बिगड़ जाना, कार्यों में अड़चन आना, ये सभी शनि दोष के लक्षण हैं।
  5. कर्ज का बोझ होना : जब व्यक्ति को शनि दोष लगता है। तो वो व्यक्ति धीरे-धीरे कर्जe बुरी तरह से डूब जाता है। वो चारों तरफ से कर्ज के बोझ के तले दब जाता है।
  6. घरों की स्थिती खराब होना : जिस व्यक्ति को शनि दोष लगता है। उस व्यक्ति के घर की स्थिति पूर्ण रुप से खराब हो जाती है। या तो घर में आग लग जाता है। या तो उसका घर टूट जाता है। या उसके घर बिकने की स्थिति उत्पन्न हो जाती है।
  7. परिवार का बिखरना : जब शनि की कुदृष्टि किसी व्यक्ति पर परती है। तो उस व्यक्ति के परिवार में सदैव अशांति का वातावरण फैल जाता है। परिवार के सदस्यों के बीच मतभेद उत्पन्न हो जाता है। परिवार से सुख शांति खत्म होने लगती है।
  8. शारिरिक पीड़ा : जिस व्यक्ति पर शनि की कुदृष्टि पड़ती है। वो व्यक्ति शारीरिक रूप से धीरे-धीरे अस्वस्थ होने लगता है। समय से पहले ही उसके सभी बाल झड़ने लगते हैं। उसकी आंखों की रोशनी कम होने लगती है। साथ ही उस व्यक्ति को बहुत सारे शारीरिक पीड़ा सहनी पड़ती है।
  9. मेहनत व्यर्थ जाना : जब शनि की कुदृष्टि पड़ती है। तो व्यक्ति चाहे कितनी भी मेहनत कर ले। उसे उसका फल प्राप्त नहीं होता। व्यक्ति के द्वारा की गई सारी मेहनत बेकार चली जाती है।
  10. नौकरी में परेशनी आना : शनि की कुदृष्टि का प्रभाव आपके आर्थिक स्थिति पर बहुत गहरा पड़ता है। अगर आप नौकरी पेशा हैं। तो आपकी नौकरी पर बहुत सारी परेशानियां आ सकती है। साथ हीं अगर आपका अपना कोई बिजनेस है। तो शनि की कुदृष्टि पढ़ने से आपके बिज़नस मे आपको बहुत सारी घाटा का सामना करना पड़ सकता है।

शनि बहुत ज्यादा खराब हो तो क्या होता है?

शनि खराब होने पर क्या करें

नवग्रहों में से एक ग्रह है शनि ग्रह। शनि ग्रह से लोग बहुत ज्यादा डरते है। इसलिए वो जानना चाहते है की शनि खराब होने पर क्या करें? और अगर शनि बहुत ज्यादा खराब हो तो क्या होता है? इसमें से एक प्रश्न का उत्तर हमने आपको दे दिया है। अब बात करेंगे की शनि बहुत ज्यादा खराब होता है तो व्यक्ति पर क्या असर पड़ता है?

  1. व्यक्ति का नियत खराब हो जाता है। और वो पराई स्त्री और पराए पुरुष से से नाजायज संबंध बना लेता है। जिसके कारण वो पूर्ण रूप से बर्बाद हो जाता है।
  2. व्यक्ति को जुआ और नशे की गंदी लत लग जाती हैं। जिससे वो बर्बाद हो जाता है।
  3. व्यक्ति को जेल और कोट कचहरी का चक्कर लगने लगता है।
  4. मानसिक रूप से व्यक्ति को हालत खराब हो जाती है। और वो पागलों की तरह करने लगता है।
  5. शारिरिक रुप से अस्वस्थ हो जाता है। वो अलग अलग तरह के रोगों का शिकार हो जाता हैं।
  6. दुर्घटना होने की संभवाना बढ़ जाती हैं।

शनि दोष वाले व्यक्ति के लिए सावधानी

  • जब किसी जातक के लग्न भाव में शनि स्थित हो। तो किसी भी भिखारी को किसी भी भिखारी को तांबे का शिक्का भी देना चाहिए। अगर एसा करते हैं। तो आपके पुत्र को पीड़ा होगी।
  • जब किसी जातक के आयु भाव में शनि स्थित रहता है। तो धर्मशाला का निर्माण नही करना चाहिए।
  • जब शनि किसी जातक के अष्टम भाव में हो तो मकान का निर्माण नही करना चाहिए। ना ही नया मकान खरीदना चाहिए।

शनि शुभ हो तो क्या होता है?

  1. जब शनि शुभ होता है तो व्यक्ति को हर क्षेत्र में सफलता मिलती है।
  2. शनि जब शुभ होता है तो व्यक्ति को किसी भी तरह की परेशानी नहीं होती है।
  3. शनि की जब शुभ दृष्टी पड़ती है। तब व्यक्ति के बाल और नाखून मजबूत हो जाते है।
  4. जिस व्यक्ति पर शनि की शुभ दृष्टि पड़ती है। वो व्यक्ति सत्यप्रित होता है। तथा उसे समाज में बहुत मान सम्मान मिलता है।
  5. जिस व्यक्ति पर शनि की शुभ दृष्टि रहती है। उस व्यक्ति के धन संपत्ति में कभी कमी नही होती है। वो दिन दो गुणी और रात चौगुणी तरक्की करता है।
  6. जिस पर शनि की शुभ दृष्टि पड़ती है। और अगर वो व्यक्ति लोहे से संबंधित रोजगार करता है। तो उसे अपार धन की प्राप्ति होती है।
शनि खराब होने पर क्या करें

निष्कर्ष

हमने अपने आज के इस आर्टिकल जिसका विषय था। शनि खराब होने पर क्या करें? जिसमे हमने इसके उपाय के साथ–साथ आपको इसके लक्षण भी बताए है। साथ के और भी बातें आपको बताई है। उपाय में हम आपको बताया है कि, शनि देव अच्छे कार्य करने वालो से सदा प्रसन्न रहते है। इसलिए हमे सभी गलत आदतों का त्याग करना चाहिए। और अच्छी आदतों को अपनाना चाहिए। साथ ही दान पुण्य करना चाहिए। और शनि देव के साथ साथ महादेव और हनुमाम जी की पूजा करनी चाहिए। ऐसे हम अपने शनि की स्थिति को अच्छा कर सकते है। उम्मीद करते हैं कि हमारा ये आर्टिकल आप सभी लोगों के लिए उपयोगी साबित हुआ होगा। धन्यवाद।

डिस्क्लेमर – इस लेख में वर्णित जानकारी और सामग्री के सटीकता के विश्वास की गारंटी हमारी या हमारी टीम की नही हैं। हमने आपको ये सारी जानकारियां विभिन्न मध्यम जैसे ज्योतिष, पंडित, पंचांग, विभिन्न धर्म ग्रंथ से इकट्ठी कर के आप तक पहुंचाई है। हमारे उद्देश्य बस सूचनाओं/जानकारियों को आपतक पहुंचाना है। इसके अलावें इसके उपयोग की जिम्मेदारी हमारी नही होगी। इसके उपयोग की जिम्मेदारी केवल उपयोग करने वाले की होगी।

FAQs:

Q. शनि दोष हटाने के लिए क्या करना चाहिए?

शनि दोष से मुक्ति पाने के लिए पीपल के पेड़ में जल में तिल डालकर प्रत्येक शनिवार को अर्पित करना चाहिए। साथ ही सरसो के तेल का दीपक पेड़ की पास जलना चाहिए।

Q. शनि ग्रह से कौन सा रोग होता है?

शनि की कुदृष्टि पड़ने से व्यक्ति को टीबी, कैंसर, चर्मरोग, पैरालाइसिस, जैसे भयंकर रोग हो सकते है।

Q. शनि देव को क्या पसंद नहीं है?

शनि देव को बुरे कर्म करने वाले लोग बिल्कुल भी पसंद नही हैं।

Q. कौन सी राशि हमेशा धनी होती है?

धन के मामले में मकर राशि वाले बहुत भाग्यशाली होते है।

Q. शनि को कौन सा फूल पसंद है?

शनि देव को नीले रंग के पुष्प अधिक प्रिय है। साथ ही इन्हें आंक के पुष्प और अप्रजीता के पुष्प प्रिय है।

इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको बताया शनि खराब होने पर क्या करें? और इसे ठीक करने के उपाय से संबंधित सभी जानकारी देने का प्रयास किया है। आशा करती हूं, कि मेरा यह आर्टिकल आप सभी के लिए उपयोगी साबित हुआ होगा। ऐसे ही और अन्य सभी जानकारी के लिए हमारे वेबसाइट Suchna Kendra से जुड़े रहे। और हमारे Telegram Channel अवश्य Join करें।

Share This Post:

Leave a Comment