राहु यंत्र के लाभ और इसका सही तरीके से उपयोग कैसे करें?

अगर आपकी कुंडली में राहु दोष है। और आप राहु दोष से मुक्त होकर राहु ग्रह को प्रसन्न करना चाहते हैं। जिसके लिए आप राहु यंत्र का उपयोग कर रहे हैं। परंतु आप ये जानना चाहते हैं। कि राहु यंत्र के लाभ क्या है? तो यह आर्टिकल आपके लिए ही है। क्योंकि हम अपने आज के इस आर्टिकल में आपको राहु यंत्र के लाभ बताएंगे। और राहु यंत्र के उपयोग की विधि से लेकर राहु यंत्र के महत्व तक की जानकारी आपको देंगे। उम्मीद करते हैं हमारा यह आर्टिकल आप सभी लोगों के लिए उपयोगी साबित होगा।

Table of Contents

राहु यंत्र के लाभ और इसका उपयोग कैसे करें?

वैदिक ज्योतिष राहु यंत्र का प्रयोग अन्य ग्रहों के यंत्रों की तुलना में अधिक किया जाता है। मान्यता के अनुसार आमतौर पर राहु और केतु को एक साथ जोड़ा जाता है। राहु व्यक्ति को अच्छे और बुरे दोनों ही फल देता है। परंतु ऐसा भी देखा जाता है कि, अधिकतर राहु कुंडलियों में अशुभ रूप से ही कार्य करते है। और जिस जातक के कुंडली में राहु दोष होता है। उस जातक को ढेर सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

Also Read:

जानिए संतान प्राप्ति के लिए कौन सा पूजा करना चाहिए? (3 उपाय)

जानिए, रावण संहिता के अनुसार पितृ दोष के उपाय और 10 लक्षण

जानिए, राहु केतु को शांत करने के लिए कौन सा उपाय करें?

अगर कुंडली में राहु दोष हो। तो यह आपको आर्थिक शारीरिक मानसिक सभी रूप से संकटों में डाल देता है। इसलिए लोग अपने कुंडली में राहु दोष को मिटाने के लिए राहु यंत्र का उपयोग करते हैं। जन्म कुंडली में राहु प्रतिकूल होने से प्रत्येक कार्य में असफलता नजर आती है। ऐसी स्थिति में राहु यंत्र को चल या आंचल प्रतिष्ठा करके धारण करने से या पूजन करने से। राहु का शीघ्र ही अनुकूल फल प्राप्त होने लगता है। आईए जानते हैं राहु यंत्र के लाभ

  1. अपनी जन्म कुंडली से राहु दोष मिटाने के लिए राहु यंत्र की पूजा करना या राहु यंत्र धारण करना सबसे अच्छा उपाय है।
  2. राहु यंत्र धारण करने से या इसकी पूजा करने से शिक्षा, व्यवसाय और कैरियर में आ रही सारी बाधाए दूर होती है।
  3. राहु यंत्र आपको छिपे हुए शत्रु, गुप्त रूप से आ रही बाधाओ से आपको बचता है।
  4. राहु यंत्र धारण करने से आप बहुत सारी बीमारियों से बच सकते हैं। यह आपको गुप्त रोग जैसे भयंकर बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करता है।
  5. राहु यंत्र आपको आपके व्यापार में सफलता दिलाने में और साथ ही शत्रुओं पर जीत हासिल करने में मदद करता है।
  6. राहु यंत्र आपके हादसे और दुर्घटनाओं से सुरक्षित रखता है।
  7. अगर आप राहु यंत्र धारण करते हैं। या राहु यंत्र की पूजा करते हैं। तो आप आपके जीवन में आ रही आर्थिक संकट से जुड़ी परेशानियां दूर होती है और आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होती है।
  8. राहु यंत्र आपके कार्यों बार-बार आ रही बढ़ाओ को दूर करता है। साथ ही अगर आपका बना बनाया काम बिगड़ जाता है। तो यह इस परेशानी का भी समाधान करता है।
  9. व्यक्ति को सुख, समृद्धि, लंबी आयु और धन की प्राप्ति राहु यंत्र के पूजा करने से या इसे धारण करने से मिलता है।
  10. और स्वास्थ्य संबंधी बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए राहु यंत्र की पूजा की जाती है। या इसे धारण भी कर सकते हैं।

किसी भी जातक को राहु यंत्र से प्राप्त होने वाले लाभ तभी मिल सकता हैं। जब जब तक द्वारा स्थापित किया जाने वाला राहु यंत्र संपूर्ण विधि के साथ बनाया गया हो। यह यंत्र धातु और ताम्र पत्र में मिलता है।

राहु यंत्र कैसे हमारे जीवन की समस्याओं को दूर करता है?

राहु यंत्र के लाभ

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार राहु यंत्र में एक दिव्य शक्ति होती है। जो आपके जीवन से बाधाओ और आपके जीवन में आ रही परेशानियों को दूर करने में आपकी सहायता करती है। यह आपकी कुंडली में राहु के सकारात्मक प्रभाव को बढ़ाता है। और साथ ही आपकी कुंडली से राहु दोष को समाप्त करने में सहायता करता है। राहु यंत्र एक प्रकार का सुरक्षा कवच है।

जो आपको हादसों से और साथ ही दुर्घटनाओं से और भारी नुकसान से सुरक्षा प्रदान करता है। राहु यंत्र आपके जीवन में शिक्षा के दिशा में, व्यवसाय की दिशा में, और आपके करियर में आ रही बाधाओ को दूर करने में आपकी मदद करता है। साथ ही यह आपको आपके गुप्त शत्रुओं की पहचान करने में और शत्रु पर विजय हासिल करने में भी आपकी सहायता करता है।

राहु यंत्र का प्रयोग क्यों किया जाता है?

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार राहु यंत्र का प्रयोग हमारी कुंडली में कालसर्प दोष के निवारण अथवा इस दोष के प्रभाव को कम करने के लिए किया जाता है। क्योंकि अनेक ज्योतिष ये मानते हैं। कि किसी भी कुंडली में काल सर्प दोष राहु और केतु के संयुक्त प्रभाव के कारण ही बनता है। इसलिए अगर कुंडली से काल सर्प दोष को मिटाना है। तो राहु यंत्र का प्रयोग करना चाहिए। और अगर हम राहु यंत्र के साथ केतु यंत्र का भी प्रयोग करते हैं। तो यह एक बहुत ही अच्छा उपाय सिद्ध हो सकता है।

राहु यंत्र का उपयोग क्यों करना चाहिए?

  1. अपनी मानसिक स्थिति को शांत करने के लिए।
  2. कुंडली से कालसर्प दोष मिटाने के लिए।
  3. राहु दोष मिटाने के लिए, राहु महाराज को प्रसन्न करने के लिए।
  4. खराब समय ठीक करने के लिए।
  5. शिक्षा, व्यवसाय, करियर में आ रही बाधाओं को दूर करने के लिए।
  6. आर्थिक संकट से छुटकारा पाने के लिए।
  7. दुश्मनों पर विजय हासिल करने के लिए।
  8. स्वास्थ ठीक रखने के लिए।
  9. शाप, बिच्छू, आदि जहरीले जानवर से बचाव के लिए।
  10. ऊंचाई के भय से मुक्त होने के लिए।

जब किसी व्यक्ति के कुंडली में राहु दोष होता है। तो उस व्यक्ति को इन परेशानियों के अलावे भी और भी बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। उस व्यक्ति को आर्थिक, मानसिक, शारीरिक रूप से बहुत सारे संकटों का सामना करना पड़ता है। परंतु अगर आप राहु यंत्र का प्रयोग करते हैं। तो धीरे-धीरे आपके जीवन से सारी परेशानियां समाप्त हो जाती है। और आपकी कुंडली से राहु दोष मिट जाता है।

राहु के रत्न का प्रयोग करने से क्या होता है?

राहु यंत्र के लाभ

बहुत से लोग राहु महाराज को प्रसन्न करने के लिए इनके रत्न ’गोमेद’ का प्रयोग करते है। परंतु राहु के रत्न गोमेद का प्रयोग नहीं करना चाहिए। क्योंकि रत्न का प्रयोग केवल उन्हीं ग्रहों से शुभ फल प्राप्त करने के लिए ही किया जाता है। जो जातक की जन्म कुंडली में शुभ रूप से कम कर रहे हो। अन्यथा गलत रत्न धारण करने से अशुभ प्रभाव पड़ सकता है। परंतु अगर हम बात करे राहु यंत्र की तो यंत्र का कोई नुकसान नही होता है। यंत्र के उपयोग से केवल प्रभाव समाप्त हो सकता है। परन्तु कोई नुकसान नही होता है।

राहु को प्रसन्न करने के लिए क्या करना चाहिए?

  • राहु को प्रसन्न करना है। तो आपको राहु यंत्र के सम्मुख भैरव जी की भी पूजा करनी चाहिए।
  • प्रतिदिन सुबह नित्य कार्यों से निवृत्त होकर राहु यंत्र की पूजा करें। और साथ ही राहु मंत्र का जाप भी करें। तो शीघ्र ही लाभ होगा।
  • राहु को प्रसन्न करने के लिए सरसों और कोयले का दान अत्यंत ही लाभकारी होता है।
  • राहु को प्रसन्न करने के लिए भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए।और साथ ही भगवान शिव के मंत्र ॐ नमः शिवाय का जाप करना चाहिए।
  • अगर आप राहु को प्रसन्न करना चाहते हैं। तो आपको मांस, मदिरा शराब और नशे वाली चीजों का त्याग करना होगा।
  • राहु को पसंद करने के लिए हनुमान जी की पूजा करें। और हनुमान चालीसा का पाठ पड़े।
  • प्रतिदिन पक्षियों को दाना खिलाए। इससे राहु प्रसन्न होते है।
  • ॐ रां राव नमः का जाप करने से राहु प्रसन्न होते हैं।
  • प्रतिदिन दुर्गा चालीसा का पाठ करें। इससे राहु प्रश्न होते हैं।
  • राहु को प्रसन्न करना है। तो काले कुत्ते को भोजन कराएं।

राहु यंत्र का क्या महत्व है?

जन्म कुंडली में राहु को छाया गृह माना गया है। परंतु फिर भी यह व्यक्ति की जीवन दिशा बदलने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। राहु के महादशा में कोई गरीब भी किसी राजा के समान सुख प्राप्त करने लगता है। वही राहु के विपरीत होने पर रातों-रात एक राजा भी रोड पर आ जाता है। यदि आपकी कुंडली में राहु अशुभ है। जिसके कारण आपके सारे काम बिगड़ रहे। तो ऐसी स्थिति में अगर आप राहु यंत्र का प्रयोग करते हैं। तो आपकी कुंडली से कालसर्प दोष मिटता है। साथ ही राहु महाराज प्रसन्न होते हैं। इसके अलावे आपके जीवन से सारी परेशानियां दूर हो जाती है।

क्योंकि राहु यंत्र आपके जीवन में शिक्षा, व्यवसाय और कैरियर के दिशा में आ रही बाधाओ को दूर करने में मदद करता है। आपको आर्थिक रूप से हो रही हानि या होने वाली हानि से बचाता है। राहु यंत्र आपको भयंकर बीमारियों से बचकर आपके स्वास्थ्य की भी रक्षा करता है। यह आपके जीवन में एक सुरक्षा कवच के रूप में काम करता है। जिस कारण यह आपको हादसे और दुर्घटना से भी सुरक्षित रखता है। राहु यंत्र के उपयोग से आप अपने गुप्त दुश्मनों के बारे में जान सकते हैं। और उन पर विजय प्राप्त कर सकते हैं। इसलिए अगर आपकी कुंडली में राहु दोष है तो इन सारी परेशानियों से छुटकारा दिलाने में राहु यंत्र बहुत लाभकारी है।

कुंडली के राहु अशुभ हो तो क्या करे?

  1. प्रत्येक सोमवार भगवान शिव का जलाभिषेक या रुद्राभिषेक जरूर करें।
  2. लोहे के बर्तन में खाना खाएं।
  3. गरीबों को कंबल खाना अनाज और उनके जरूरत की वस्तुएं दान करें।
  4. सोमवार या शनिवार को उपवास रखें।
  5. शिवलिंग की नियम से पूजा करें। बेलपत्र, धतूरा आदि शिव के प्रिय वस्तु अर्पित करें।
  6. राहु को काला रंग अति प्रिय है। काले रंग से राहु और अधिक सक्रिय हो जाते है।
  7. मछलियों को आटे की छोटी-छोटी गोलियां बनाकर खिलाएं।

राहु यंत्र किसको धारण करना चाहिए?

राहु की अपनी कोई राशि नहीं होती। राहु एक छाया ग्रह है। परंतु फल देने मे किसी से भी कम नहीं है। इसलिए जिनकी राहु की महादशा चल रही हो। और उन्हें ढेर सारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हो। उस व्यक्ति को राहु यंत्र धारण करना चाहिए।

राहु यंत्र का निर्माण कैसे करें?

राहु यंत्र के लाभ
  • राहु यंत्र का निर्माण शनिवार के दिन किया जाता है। क्योंकि राहु का अपना कोई दिन नही होता है। किंतु राहु का शनि के समान ही फल देने वाला ही बताया गया है।
  • राहु यंत्र के स्थापना के दिन स्नान करने के पश्चात् अपने यंत्र को सामने रखकर। शनिवार के दिन राहु के बीज मंत्र “ॐ श्री रा‌ँ राहुये नमः का 18000 जाप करें।
  • विधिवत बनाया गया राहु यंत्र प्राप्त करने के पश्चात्, आपको इसे अपने ज्योतिषी के अनुसार अपने घर के पूजा के स्थान अथवा अपने बटुए अथवा अपने गले में स्थापित करना होता है।
  • उत्तम फलों की प्राप्ति के लिए अपने राहु यंत्र को शनिवार के दिन स्थापित करना चाहिए।
  • अब अपने इष्ट देव के साथ–साथ राहु महाराज को भी आराधना करें। और उनसे अपने और अपने परिवार के ऊपर कृपा बरसाने की प्रार्थना करे।

निष्कर्ष

हमने अपने आज के आर्टिकल जिसका मुख्य विषय था, क्या है? राहु यंत्र के लाभ ? जिसके तहत हमने आपको राहु यंत्र के लाभ बताए है। और साथ ही राहु यंत्र किसी धारण करना चाहिएं? इसके महत्त्व क्या है? और इसका उपयोग क्यों किया जाता है? इन सब के बारे में आपको जानकारियां दी है। साथ में राहु यंत्र से संबंधित और भी और भी बातें आपको बताई है। संछिप्त में बात करें तो इसमें हमने आपको बताया है।

कि हमारी कुंडली में अगर राहु दोष या कालसर्प दोष हो। तो इस दोष से मुक्त होने के लिए हमें राहु यंत्र का इस्तेमाल करना चाहिए। यह हमारे जीवन में आ रही परेशानी आ रही बाधाओ को दूर करने में हमारी सहायता करता है। और हमारे जीवन में सुख–शांति और समृद्धि स्थापित करता है। उम्मीद करते हमारा ये आर्टिकल आप सभी लोगों के लिए उपयोगी साबित हुआ होगा। धन्यवाद।

डिस्क्लेमर – इस लेख में वर्णित जानकारी और सामग्री के सटीकता के विश्वास की गारंटी हमारी या हमारी टीम की नही हैं। हमने आपको ये सारी जानकारियां विभिन्न मध्यम जैसे ज्योतिष, पंडित, पंचांग, विभिन्न धर्म ग्रंथ से इकट्ठी कर के आप तक पहुंचाई है। हमारे उद्देश्य बस सूचनाओं/जानकारियों को आपतक पहुंचाना है। इसके अलावें इसके उपयोग की जिम्मेदारी हमारी नही होगी। इसके उपयोग की जिम्मेदारी केवल उपयोग करने वाले की होगी।

FAQs:

Q. राहु यंत्र कौन पहन सकता है?

जिस व्यक्ति के कुंडली में कालसर्प दोष हो या राहु दोष हो तो उसे व्यक्ति को राहु यंत्र धारण करना चाहिए अथवा राहु यंत्र की पूजा करनी चाहिए।

Q. राहु के लिए किसकी पूजा करनी चाहिए?

राहु दोस्त से मुक्त होने के लिए हमें भैरव जी, मां दुर्गा और भगवान शिव और हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए।

Q. राहु मजबूत होने से क्या होता है?

जिस व्यक्ति के कुंडली में राहु मजबूत होता है उसे व्यक्ति के जीवन में ढेर सारी खुशियां आती है।

Q. राहु को क्या दान करना चाहिए?

अगर आपको राहु दोष है तो आप शनिवार के दिन लौंग का दान करें इससे राहु दोष मिटता है।

Q. राहु की धातु कौन सा है?

राहु की धातु लोहा है।

Q. राहु को कौनसा रंग पसंद है?

राहु को काला रंग अति प्रिय है। काले रंग से राहु अति प्रसन्न होते हैं।

इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको बताया राहु यंत्र के लाभ और इसका उपयोग कैसे करें? और राहु यंत्र लाभ और इसके उपयोग से संबंधित सभी जानकारी देने का प्रयास किया है। आशा करती हूं, कि मेरा यह आर्टिकल आप सभी के लिए उपयोगी साबित हुआ होगा। ऐसे ही और अन्य सभी जानकारी के लिए हमारे वेबसाइट Suchna Kendra से जुड़े रहे। और हमारे Telegram Channel अवश्य Join करें।

Share This Post:

Leave a Comment